अबकी बार नवनियुक्त पुरुष शिक्षक भी चुन सकेंगे स्कूल:- पिछली बार केवल महिलाओं और दिव्यांगों को ही दिया गया था ऑनलाइन स्कूल चुनने का मौका, जोड़ी जाएंगी पांच अतिरिक्त रिक्तियां - PRIMARY KA MASTER | Update Marts | Primary Teacher | Basic Shiksha News

Breaking

Saturday, 23 January 2021

अबकी बार नवनियुक्त पुरुष शिक्षक भी चुन सकेंगे स्कूल:- पिछली बार केवल महिलाओं और दिव्यांगों को ही दिया गया था ऑनलाइन स्कूल चुनने का मौका, जोड़ी जाएंगी पांच अतिरिक्त रिक्तियां


बरेली: इस बार नव नियुक्त पुरुष शिक्षकों को भी ऑनलाइन स्कूल चुनने का विकल्प मिलेगा। इसके लिए शासन की ओर से आदेश जारी किए जा चुके हैं। बरेली के 452 नव नियुक्त शिक्षकों को इसका लाभ मिला था। अब 25 और 27 जनवरी को इन नव नियुक्त शिक्षकों को स्कूल का आवंटन होना है। शिक्षा विभाग ने इसके लिए तैयारियां तेज कर दी हैं।


प्रदेश में 69 हजार शिक्षक भर्ती के सापेक्ष हुई 31677 शिक्षक भर्ती में बरेली को 712 शिक्षक मिले थे। कोर्ट के आदेश के बाद दोबारा से 36590 शिक्षकों की भर्ती हुई। इसमें बरेली को 452 शिक्षक मिले। इन सभी को विगत पांच दिसम्बर को संजय कम्युनिटी हॉल में नियुक्ति पत्र बांटे गए थे। सात दिसम्बर को सभी शिक्षकों की बीएसए कार्यालय में ज्वाइनिंग करा दी गई। तब से इन शिक्षकों को स्कूलों का आवंटन नहीं किया गया है अब शासन ने नव नियुक्त शिक्षकों को स्कूल आवंटित करने का रास्ता खोल दिया है। इस बार सभी शिक्षकों को ऑनलाइन स्कूलों का आवंटन किया जाएगा। इससे पहले हुई भर्ती में सिर्फ महिला और दिव्यांग शिक्षकों को ही ऑनलाइन स्कूल चुनने का मौका मिला था जबकि सभी पुरुष शिक्षकों को रोस्टर के हिसाब से स्कूलों का आवंटन किया गया था इसे लेकर कई शिक्षक संगठनों में काफी रोष भी था। इसी से बचने के लिए अब शासन ने सभी शिक्षकों को ऑनलाइन विकल्प चुनने का मौका दिया है। बीएसए विनय कुमार ने बताया

कि 25 और 27 जनवरी के लिए चयनित अभ्यर्थियों के लिए फरीदपुर डायट में अपने सभी दस्तावेजों के साथ पहुंचना होगा । बिना मास्क और सैनेटाइजर के डायट में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी कोविड- 19 की गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन करना होगा

पांच अतिरिक्त रिक्तियां ही जोड़ी जाएंगी

बीएसए विनय कुमार ने बताया कि शासन के आदेशानुसार इस बार जनपद में आवंटित अभ्यर्थियों के सापेक्ष केवल पांच अतिरिक्त रिक्तियों को ही जोड़ा जाएगा। इसके लिए पहले शिक्षक विहीन विद्यालय, फिर एकल विद्यालयों की रिक्तियों को शामिल किया जाएगा। यदि इसके बाद | भी अभ्यर्थियों की संख्या ज्यादा होती है तो दो शिक्षक वाले उन विद्यालयों की रिक्तियों को खोला जाएगा जिनका छात्र-अध्यापक का अनुपात | सर्वाधिक हो।