UP B.Ed JEE 2020: जारी हुआ शेड्यूल, 19 नवंबर से शुरू होगा रजिस्ट्रेशन, ऑनलाइन काउंसिलिंग को लेकर जानें विस्तार से - PRIMARY KA MASTER | Update Marts | Primary Teacher | Basic Shiksha News

Breaking

Wednesday, 11 November 2020

UP B.Ed JEE 2020: जारी हुआ शेड्यूल, 19 नवंबर से शुरू होगा रजिस्ट्रेशन, ऑनलाइन काउंसिलिंग को लेकर जानें विस्तार से

जिन कैंडीडेट्स ने रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को पूरा कर लिया है उन्हें 5750 रुपये एडवॉन्स फीस के रूप में भुगतान करना होगा. इसमें से 750 रुपये काउंसिलिंग फीस होगी जबकि 5 हजार रुपये एडवॉन्स कॉलेज फीस होगी.



उत्तर प्रदेश बीएड काउंसिलिंग प्रवेश परीक्षा 2020 (Uttar Pradesh B.Ed Joint Entrance Examination 2020) की काउंसिलिंग 19 नवंबर से शुरू होगी. इसके लिए शेड्यूल जारी कर दिया गया है. इसके बारे में सारी जानकारी आधिकारिक वेबसाइट - www.lkouniv.ac.in - पर दी गई है. इसके मुताबिक ऑनलाइन काउंसिलिंग की प्रक्रिया तीन स्टेज में पूरी की जाएगी. बीएड 2020-21 का नया सेशन 10 दिसंबर से शुरू किया जाएगा.


काउंसिलिंग फीस (Counselling Fees)

जिन कैंडीडेट्स ने रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को पूरा कर लिया है उन्हें 5750 रुपये एडवॉन्स फीस के रूप में भुगतान करना होगा. इसमें से 750 रुपये काउंसिलिंग फीस होगी जबकि 5 हजार रुपये एडवॉन्स कॉलेज फीस होगी. 750 रुपये की काउंसिलिंग फीस रिफंडेबल नहीं है. अगर किसी कैंडीडेड को सीट एलॉट नहीं होती है तो उसकी फीस को रिफंड कर दिया जाएगा. रजिस्ट्रेशन और फीस पेमेंट के बाद कैंडीडेट्स अपना च्वाइस भर पाएंगे. ईडब्ल्यूएस की सुविधा अल्पसंख्यक संस्थाओं को छोड़कर सरकारी, सरकार द्वारा सहायता प्राप्त और गैर सरकारी सहायता प्राप्त संस्थाओं में होगा.


रैंक के आधार पर होगा कॉलेज एलॉटमेंट
बता दें कि कॉलेज का एलॉटमेंट कैंडीडेट्स के स्टेट रैंक के आधार पर और उनके द्वारा सेलेक्ट किए गए कॉलेजों के आधार पर किया जाएगा. आरक्षण भी कैंडीडेट्स को नियमानुसार दिया जाएगा. काउंसलिंग प्रक्रिया में रजिस्ट्रेशन, एडवांस कॉलेज शुल्क, काउंसलिंग का भुगतान, सीट अलॉटमेंट, च्वाइस फिलिंग, डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन आदि शामिल हैं. यूपी बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा 2020 को 9 अगस्त को आयोजित की गई थी. परीक्षाओं के परिणाम 5 सितंबर को जारी किए गए थे. राज्य भर के लगभग 4.31 लाख उम्मीदवार शामिल हैं. इस परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था. राजधानी लखनऊ सहित राज्य के 73 जिलों में 1089 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे.