शिक्षक बनने के लिए लाखों छात्रों को रिजल्ट का इंतजार - PRIMARY KA MASTER | Update Marts | Primary Teacher | Basic Shiksha News

Breaking

Monday, 2 November 2020

शिक्षक बनने के लिए लाखों छात्रों को रिजल्ट का इंतजार

 उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा चयन बोर्ड की ओर से शुरू की जा रही 15508 शिक्षकों की भर्ती से प्रदेश के लाखों छात्र-छात्राएं वंचित हो सकते हैं। इन छात्र-छात्राओं ने बीए अंतिम सेमेस्टर और परास्नातक (पीजी) अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा दे रखी है, लेकिन परीक्षाओं का रिजल्ट अभी जारी नहीं हुआ है। आवेदन की अंतिम तिथि तक संबंधित विषय में बीएड या पीजी की परीक्षा उत्तीर्ण होने की अनिवार्यता है। अभ्यर्थियों की मांग है कि बीएड और एमए का रिजल्ट शीघ्र जारी किया जाए या चयन बोर्ड आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ा दे।

कोविड-19 के कारण इस बार सभी उच्च शिक्षण संस्थानों में अंतिम वर्ष एवं अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं काफी विलंब से शुरू हुईं। इलाहाबाद विश्वविद्यालय (इविवि) और प्रो. राजेंद्र सिंह (रज्जू भइया) राज्य विश्वविद्यालय में बीएड और एमए अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं हाल ही में आयोजित की गईं। छात्र-छात्राओं को अब रिजल्ट का इंतजार है। राज्य विश्वविद्यालय की बीएड अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा में प्रयागराज, फतेहपुर, कौशाम्बी और फतेहपुर से 7522 अभ्यर्थी शामिल हुए थे। वहीं, एमए की परीक्षा में 8524 अभ्यर्थी शामिल हुए थे। इविवि की परास्नातक अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा में शामिल तकरीबन 10 हजार विद्यार्थियों को रिजल्ट का इंतजार है। वहीं, बीएड अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा में शामिल हुए तकरीबन 167 परीक्षार्थियों का रिजल्ट भी अभी जारी नहीं हुआ है। इस तरह प्रयागराज में ही 25 हजार से अधिक विद्यार्थियों को अपने रिजल्ट का इंतजार है, जबकि प्रदेश में यह संख्या लाखों में होगी।
बीएड अंतिम वर्ष और परास्नातक अंतिम सेमेेस्टर या अंतिम वर्ष की परीक्षा में शामिल हुए अभ्यर्थियों को शिक्षक भर्ती में आवेदन करने का इससे अच्छा मौका नहीं मिलेगा, लेकिन शर्त यह है कि आवेदन की अंतिम तिथि तक संबंधित अभ्यर्थी को अर्हता पूरी करनी होती है। माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड ने टीजीटी एवं पीजीटी शिक्षकों के 15508 पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया है। इनमें 15 विषयों में टीजीटी के 12913 पदों पर भर्ती होनी है। वहीं, पीजीटी के 2595 पदों पर भर्ती की जानी है। इनमें 21 विषयों में पुरुष वर्ग और 19 विषयों में महिला वर्ग की अभ्यर्थियों की भर्ती होनी है। टीजीटी के पदों पर भर्ती के लिए बीएड की डिग्री होनी चाहिए, जबकि प्रवक्ता के पदों पर भर्ती के लिए संबंधित विषय में परास्नातक जरूरी है। बीएड और परास्नातक अंतिम सेमेस्टर के छात्रों का टीजीटी-पीजीटी भर्ती के लिए आवेदन तभी मान्य होगा, जब वह आवेदन की अंतिम तिथि तक या उससे पहले बीएड और परास्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण कर लेंगे। अभ्यर्थियों की मांग है कि परीक्षाओं का परिणाम परिणाम शीघ्र जारी किया जाए या चयन बोर्ड शिक्षक भर्ती के लिए आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ाए।