प्रतियोगियों का दावा, चयन बोर्ड उप सचिव का इन्कार:- जीव विज्ञान विषय को टीजीटी-पीजीटी-2020 की भर्ती में शामिल करने का मामला - PRIMARY KA MASTER | Update Marts | Primary Teacher | Basic Shiksha News

Breaking

Friday, 13 November 2020

प्रतियोगियों का दावा, चयन बोर्ड उप सचिव का इन्कार:- जीव विज्ञान विषय को टीजीटी-पीजीटी-2020 की भर्ती में शामिल करने का मामला

प्रयागराज : एडेड माध्यमिक कालेजों की टीजीटी-पीजीटी 2020 भर्ती में जीव विज्ञान विषय को लेकर घमासान छिड़ा है। प्रतियोगी लगातार इस विषय का विज्ञापन जारी करने की मांग कर रहे हैं। चयन बोर्ड की ओर से अब तक आधिकारिक विज्ञप्ति जारी नहीं हुई है। प्रतियोगी बोर्ड का निर्णय जानने के लिए गुरुवार को कार्यालय पहुंचे और उन्होंने कई अहम दावे किए हैं। वहीं, बोर्ड के उप सचिव ने इन्कार किया है।


माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड के उप सचिव नवल किशोर से प्रतियोगी मोर्चा का छह सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल मिला, जिसमें विक्की खान, आनंद यादव, रमेश कुमार, मनीष यादव, जितेंद्र यादव व अभय सिंह शामिल थे। 10 नवंबर को चयन बोर्ड की बैठक में जीव विज्ञान के लिए क्या निर्णय हुए यह जानना चाहा। प्रतियोगियों का दावा है कि चयन बोर्ड के डिप्टी सचिव ने ये बातें कहीं हैं।

’ जीव विज्ञान को नए विज्ञापन में शामिल होगा, इसके लिए 10 दिनों में संशोधित विज्ञप्ति जारी होगी। जीव विज्ञान के प्रतियोगी नए विज्ञापन में आवेदन कर सकेंगे।

’ वर्ष 2016 जीव विज्ञान की परीक्षा के लिए दो सदस्यीय कमेटी का गठन हुआ है, जो तारीख की घोषणा करेगी, परीक्षा जनवरी के अंतिम या फरवरी के द्वितीय सप्ताह में संभावित है।

’ वर्ष 2011 जीव विज्ञान लिखित परीक्षा परिणाम दिसंबर तक घोषित किया जाना संभावित है।

’ नए विज्ञापन वर्ष 2020 की परीक्षा 30 अप्रैल तक कराया जाना संभावित है, नियुक्ति 21 जुलाई तक मिलेगी।

’ टीजीटी विज्ञान, टीजीटी अंग्रेजी, प्रवक्ता अंग्रेजी, टीजीटी कला के छूटे हुए अभ्यíथयों का साक्षात्कार 29 नवंबर को कराकर 15 दिसंबर तक अंतिम परिणाम घोषित होगा।

’ नए विज्ञापन में ईडब्ल्यूएस के प्रतियोगी छात्र यदि अनारक्षित श्रेणी के मेरिट में आते हैं तो वह अनारक्षित श्रेणी में चले जाएंगे, निचले पायदान से दूसरे ईडब्ल्यूएस को इसका लाभ मिलेगा।

’ नए विज्ञापन में प्रतियोगी से यदि फार्म भरने में गलती होती है तो वह दूसरा आवेदन कर सकते हैं पहला आवेदन निरस्त होगा व दूसरा आवेदन ही मान्य किया जाएगा।

प्रतियोगी अपने हिसाब से दे रहे सूचना : उप सचिव

चयन बोर्ड के उप सचिव नवल किशोर का कहना है कि हर दिन उनसे कई लोग मिलते हैं लेकिन, बोर्ड के गोपनीय निर्णय वे सार्वजनिक नहीं करते। अभ्यर्थी अपने हिसाब से सूचना दे रहे हैं चयन बोर्ड का निर्णय तभी मान्य है जब वेबसाइट पर आएगा।