शिक्षकों से बोले सीएम रोज जाएं स्कूल और पढ़ाएं - PRIMARY KA MASTER | Update Marts | Primary Teacher | Basic Shiksha News

Breaking

Saturday, 24 October 2020

शिक्षकों से बोले सीएम रोज जाएं स्कूल और पढ़ाएं

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने शुक्रवार को नव चयनित सहायक अध्‍यापकों से संवाद किया तो शिक्षकों की खुशी का ठिकाना नहीं था। संवाद कार्यक्रम के तहत सीएम ने मेरठ, गोरखपुर, प्रयागराज, वाराणसी और झांसी के सात अध्‍यापकों से बात की।


गोरखपुर की निकहत परवीन से सीएम ने पूछा कि आप बेटियों की शिक्षा के लिए क्‍या करेंगी? इस पर निकहत ने कहा कि बेटियों की शिक्षा को प्रोत्‍साहित करने के लिए जो प्रयास मेरी ओर से हो सकेंगे वो करूंगी। इसके साथ ही मैं दिव्‍यांग बेटियों की शिक्षा पर जोर दूंगी।

मेरठ से जगमोहन सिंह ने जब बताया कि मैं परीक्षित गढ़ का रहने वाला हूं तो मुख्यमंत्री ने पूछा कि आप क्या जानते हैं वहां के बारे में। फिर बताने लगे कि उस जगह का नाम प्रतापी राजा परीक्षित के नाम पर पड़ा है। 6000 से अधिक वर्षों का संपन्न इतिहास है वहां का...। आप वहां से हैं यह सौभाग्य की बात है।
झांसी से ज्‍योति गौर से मुख्‍यमंत्री ने पूछा सहायक अध्‍यापक के रूप में चयन हुआ है आपका कैसा लग रहा है। ज्‍योति ने कहा कि सभी लोग बहुत खुश हैं। बहुत अच्‍छा लग रहा है। मुख्‍यमंत्री ने वारणसी की मनीषा थपलियाल से कहा कि आप संस्‍कृत से हैं, वाराणसी में आपको सेवा का अवसर मिला है। मनीषा ने कहा बहुत अच्‍छा लग रहा है। सीएम ने पूछा आप थपलियाल हैं कहां कि रहने वाली हैं । मनीषा ने कहा कि सर मैं वाराणसी की ही रहने वाली हूं।

मुख्‍यमंत्री से संवाद में प्रयागराज की स्मिता जायसवाल ने कहा कि मुझे बहुत खुशी है सर कि पूरी चयन प्रक्रिया बहुत ही पारदर्शी तरीके से और बेदाग रही है। मुख्‍यमंत्री ने पूछा अब आप विद्यालय में जा कर बच्‍चों को अच्‍छे से पढ़ाएंगी तो स्‍मिता ने कहा बिलकुल सर बच्‍चों को अच्‍छी शिक्षा दूंगी ।

गोरखपुर की हेमप्रभा ओझा से संवाद करते हुए मुख्‍यमंत्री ने कहा कि गृह विज्ञान सहायक अध्‍यापक में आपका चयन हुआ है, समाज के लिए उपयोगी सभी चीजें गृह विज्ञान के अंदर आती हैं। विद्यालय के सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों के दौरान गृह विज्ञान विभाग का एक विशेष कार्यक्रम होना चाहिए। मैं चाहूंगा कि आप नियमित रूप से विद्यालय जा कर पठन पाठन का बेहतर माहौल तैयार करें।

प्रयागराज के मनीष मिश्रा से सीएम ने पूछा आप विद्यालय जाकर नियमित रूप से पढ़ाएंगे न। मनीष ने कहा बिलकुल सर सौ फीसदी देने का काम करूंगा। मुख्‍यमंत्री ने मनीष को बधाई देते हुए कहा कि आप मेहनत करेंगे तो आपके भविष्‍य के लिए काफी संभावनाएं हैं।