एक साल में दो डिग्रियों के आधार पर बर्खास्तगी अवैध, अपील खारिज - PRIMARY KA MASTER | Update Marts | Primary Teacher | Basic Shiksha News

Breaking

Saturday, 24 October 2020

एक साल में दो डिग्रियों के आधार पर बर्खास्तगी अवैध, अपील खारिज

एक साल में दो डिग्रियों के आधार पर बर्खास्तगी अवैध, अपील खारिज

प्रयागराज। हाईकोर्ट ने कहा है कि यदि किसी के पास उस पद पर नियुक्त होने की योग्यता है, जिस पर वह काम कर रहा है तो इस आधार पर बर्खास्त करना गलत है कि उसने एक ही वर्ष में दो डिग्रियां हासिल की हैं। कोर्ट ने इस आधार पर जूनियर हाईस्कूल के प्रधानाध्यापक पद पर कार्यरत याची की बर्खास्तगी को अवैध करार देते हुए बीएसए गोरखपुर के बर्खास्तगी आदेश को रद्द कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि यह जानते हुए नियुक्त अध्यापक पद की निर्धारित योग्यता रखता है, फिर भी बर्खास्त करना गलत है। अधिकारियों को ऐसे मामलों में संवेदनशीलता से निर्णय लेना चाहिए। बीएसए ने एक ही सत्र में हाईस्कूल व समकक्ष दो डिग्री हासिल करने के आरोप में प्रधानाध्यापक को बर्खास्त कर दिया था। इस आदेश को प्रधानाध्यापक ने हाईकोर्ट में चुनौती दी। एकल न्यायपीठ ने बर्खास्तगी को अवैध मानते हुए रद्द कर दिया तो बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से विशेष अपील दाखिल कर एकल पीठ के आदेश को चुनौती दी गई। विशेष अपील 1. पर मुख्य न्यायमूर्ति गोविंद माथुर और न्यायमूर्ति सिद्धार्थ वर्मा की पीठ ने सुनवाई की। खंडपीठ ने एकल पीठ के प्रधानाध्यापक की बर्खास्तगी को रद्द करने के आदेश को सही माना है और बेसिक शिक्षा परिषद की तरफ से दाखिल विशेष अपील खारिज कर दी है। बर्खास्त प्रधानाध्यापक चार जनवरी 2006 को सहायक अध्यापक पद पर नियुक्त हुए। इसके बाद उनको जूनियर हाईस्कूल के प्रधानाध्यापक पद पर प्रोन्नति दी गई।