केवाईसी न होने से हजारों की छात्रवृत्ति अधर में लटकी - PRIMARY KA MASTER | Update Marts | Primary Teacher | Basic Shiksha News

Breaking

Thursday, 29 October 2020

केवाईसी न होने से हजारों की छात्रवृत्ति अधर में लटकी

 केवाईसी न होने से हजारों की छात्रवृत्ति अधर में लटकी

प्रयागराज। शिक्षण संस्थाओं की उपेक्षा से हजारों अल्पसंख्यक छात्र-छात्राओं के छात्रवृत्ति से वंचित होने का खतरा बन गया है। मंडलायुक्त और सीडीओ की बैठकों में लगातार चेतावनी के बावजूद पांच हजार से अधिक संस्थानों ने अभी तक केवाईसी ही अपडेट नहीं की है। जबकि, इसके लिए मात्र तीन दिन बचे हैं।


केंद्र सरकार के अल्पसंख्यक विभाग की प्री-मेट्रिक, पोस्ट मैट्रिक तथा मेरिट कम मीन्स छात्रवृत्ति के लिए छात्र-छात्राओं की केवाईसी अपडेट कराना अनिवार्य है। इसके विपरीत नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर जिले के 6768 संस्थान रजिस्टर्ड हैं। इनमें से मात्र 1382 संस्थाओं ने ही केवाईसी अपडेट कराई है। इस तरह से 5387 शिक्षण संस्थानों ने केवाईसी अपडेट नहीं की है और इन स्कूल-कालेज के हजारों विद्यार्थियों के सामने छात्रवृत्ति के साथ आगे की पढ़ाई जारी रखने का संकट खड़ा हो गया है।
जिला अल्पसंख्यक अधिकारी शिव प्रकाश तिवारी ने बताया कि छात्रवृत्ति के लिए केवाईसी अपडेट करने की आखिरी तारीख 31 अक्तूबर है। इससे पहले ऑनलाइन केवाईसी अपडेट करने के साथ डाटा विकास भवन स्थित कार्यालय में भी जमा करना है। यह प्रक्रिया पूरी न करने वाले संस्थान के विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति नहीं मिलेगी। संबंधित संस्थान प्रशासन को लगातार पत्र लिखा गया। बैठकों में भी केवाईसी के लिए कहा गया लेकिन संस्थानों ने पहल नहीं की।
विद्यालय का प्रकार कुल लंबित केवाईसी संस्था
डिग्री कालेज 332
आईटीआई 197
डीआईओएस के अधीन विद्यालय 685
बीएसए के अधीन विद्यालय 4173
कुल 5387