अंतर्जनपदीय स्थानांतरण : सितंबर में भी जारी नहीं हो सकती ट्रांसफर की सूची - PRIMARY KA MASTER | Update Marts | Primary Teacher | Basic Shiksha News

Breaking

Monday, 21 September 2020

अंतर्जनपदीय स्थानांतरण : सितंबर में भी जारी नहीं हो सकती ट्रांसफर की सूची

अंतर्जनपदीय स्थानांतरण : सितंबर में भी जारी नहीं हो सकती ट्रांसफर की सूची

 
आवेदकों को अगले माह तक करना पड़ सकता है इंतजार

दावे, आपत्तियों की प्राप्ति और निस्तारण तक की प्रक्रिया हो चुकी है पूरी


मुख्यमंत्री के निर्देश पर 54120 परिषदीय शिक्षकों के तबादले की सूचना रविवार को जारी कर दी गई। हालांकि तबादला सूची सितंबर अंत तक किसी सूरत में जारी नहीं हो सकती। अंतर जनपदीय तबादले के लिए 70838 जबकि पारस्परिक ट्रांसफर के लिए 9641 शिक्षकों ने ऑनलाइन आवेदन किया था।



बेसिक शिक्षा परिषद की वेबसाइट पर उपलब्ध रिक्त पदों की सूचना के मुताबिक सभी 75 जिलों में प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलों में प्रधानाध्यापक व सहायक अध्यापक के कुल 43916 पद ही खाली हैं। 24 से 28 फरवरी तक अंतिम रूप से आवेदन पत्र सबमिट किए गए। 


वेबसाइट पर आवेदन की स्थिति और गुणांक को प्रदर्शित किया जा चुका है। लेकिन उसके बाद जिला स्तर पर दावे, आपत्तियों की प्राप्ति एवं निस्तारण का होना बाकी है। उसके बाद बीएसए जनपदीय समिति के निर्णय के क्रम में आवेदन पत्रों को सत्यापित करते हुए लॉक करेंगे। उसके बाद अंतिम सूची प्रकाशित होगी। इस पूरी प्रक्रिया में कम से कम एक महीने का समय लग जाएगा। जानकारों की मानें तो 10 अक्टूबर से पहले लिस्ट जारी नहीं कर सकेंगे।



प्रयागराज। मुख्यमंत्री की ओर से बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षकों के अंतरजनपदीय तबादलों को हरी झंडी तो मिल गई, लेकिन आवेदन कर चुके शिक्षकों को अंतिम सूची के लिए अगले महीने तक इंतजार करना पड़ सकता है। तबादले की प्रक्रिया बीच में रोक दी गई थी और तब तक दावे, आपत्तियों की प्राप्ति और निस्तारण तक की प्रक्रिया ही पूरी हो सकी थी। इसके आगे की प्रक्रिया सितंबर के अंत तक होना मुश्किल है।


अंतरजनपदीय तबादलों के लिए कुल 70838 शिक्षकों ने आवेदन किए थे। इनमें से 16 हजार से अधिक आवेदन निरस्त किए जा चुके हैं। कुल 54123 मामले शेष रह गए हैं, जिनमें तकरीबन 45 हजार अंतरजनपदीय तबादले रिक्त पदों पर होने हैं और नौ हजार पारस्परिक तबादले हैं। मुख्यमंत्री से अंतरजनपदीय तबादलों को हरी झंडी मिलने के बाद अब प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाएगा। इसके तहत जनपदीय चयन समिति के निर्णय के बाद जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा संबंधित अध्यापक का डाटा रिसेट करते हुए संशोधन के लिए उपलब्ध कराया जाएगा।


इसके बाद जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा जनपदीय समिति के निर्णय के बाद अंतिम रूप से सब्मिट किए गए आवेदन पत्रों को सत्यापित करते हुए लॉक किया जाएगा और इसके बाद अंतिम सूची का प्रकाशन किया जाएगा। इस प्रक्रिया को पूरा करने में कम से कम 20 दिन का समय लगेगा। ऐसे में शिक्षकों को तबादले के लिए अगले महीने तक इंतजार करना पड़ सकता है।