सभी विभाग रिक्त पदों पर तीन माह में शुरू करें भर्तियां: योगी - PRIMARY KA MASTER | Update Marts | Primary Teacher | Basic Shiksha News

Breaking

Saturday, 19 September 2020

सभी विभाग रिक्त पदों पर तीन माह में शुरू करें भर्तियां: योगी

लखनऊ: कोरोना आपदा के कारण गहराए रोजगार के संकट के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य सरकार के सभी विभागों में रिक्त पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू करने का निर्देश दिया है। तीन महीने में यह प्रक्रिया शुरू कर इसे पूरा करते हुए अगले छह महीने में चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र बांटने का निर्देश भी दिया है।


शुक्रवार को लोकभवन में शासन के उच्च अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि मार्च 2017 से अब तक सरकार ने लोक सेवा आयोग उप्र व अन्य भर्ती संस्थाओं के माध्यम से तीन लाख से अधिक चयनित अभ्यर्थियों को नौकरियां दी हैं। इस काम को पूरी तेजी से आगे बढ़ाते हुए आने वाले समय में भी पारदर्शितापूर्ण और निष्पक्ष ढंग से भर्ती प्रक्रिया को संचालित किया जाए।

हफ्ते भर में तलब किया रिक्त पदों का ब्योरा: मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव सहित सभी अपर मुख्य सचिवों/प्रमुख सचिवों को विभागों में रिक्त पदों का विवरण एक सप्ताह में उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।

भर्ती संस्थाओं के प्रमुखों के साथ 21 को बैठक: मुख्यमंत्री ने यह निर्देश भी दिए कि प्रदेश की विभिन्न भर्ती संस्थाओं के पदाधिकारियों के साथ बैठक करते हुए चयन परीक्षाओं के आयोजन के बारे में कार्ययोजना तैयार कर ली जाए। भर्तियों को लेकर उनकी गंभीरता का अंदाज इस बात से लगाया जा सकता है कि इस सिलसिले में वह खुद 21 सितंबर को विभिन्न भर्ती बोर्ड/आयोगों के प्रमुखों के साथ बैठक करेंगे।

राज्य ब्यूरो, लखनऊ: उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने अधीनस्थ कृषि सेवा (वर्ग-3) प्राविधिक सहायक ग्रुप-सी के 2059 रिक्त पदों पर चयन के लिए आयोजित हुई लिखित परीक्षा का परिणाम शुक्रवार को घोषित कर दिया है। 19 फरवरी 2019 को हुई लिखित परीक्षा के आधार पर रिक्त पदों पर चयन के लिए योग्यता/अभिलेख आदि के परीक्षण के लिए 2059 अभ्यर्थियों को अर्ह घोषित किया गया है।

इनमें से 1030 पद अनारक्षित, 432 अनुसूचित जाति, 41 अनुसूचित जनजाति तथा 555 अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए हैं। भूतपूर्व सैनिक श्रेणी के कुल 102 पदों के सापेक्ष इस श्रेणी के 21 अभ्यर्थी ही उपलब्ध हो पाए हैं। इसलिए भूतपूर्व सैनिक श्रेणी के बाकी 81 पदों पर मेरिट से अन्य अभ्यर्थियों को घोषित किया गया है। अभिलेख परीक्षण के लिए अर्ह पाए गए अभ्यर्थियों के परीक्षा परिणाम व कट ऑफ अंक आयोग की वेबसाइट पर भी अपलोड कर दिए गए हैं।

राज्य ब्यूरो, प्रयागराज: उप्र लोकसेवा आयोग ने एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 के प्रतियोगियों को बड़ी राहत दी है। पेपर लीक प्रकरण में फंसा हंिदूी व सामाजिक विज्ञान विषय का रिजल्ट जल्द जारी होगा।

उप्र लोकसेवा आयोग की शुक्रवार को हुई बैठक में यह अहम निर्णय लिया गया। आयोग अध्यक्ष डॉ. प्रभात कुमार की अगुवाई में तय हुआ कि पेपर लीक के अभियुक्त व गवाहों को छोड़कर सबका परीक्षा परिणाम घोषित होगा। बैठक में वाराणसी एसएसपी की ओर से जांच की चार्जशीट दाखिल करने पर आयोग ने यह फैसला किया है। हंिदूी में 1433 व सामाजिक विज्ञान में 1854 पद हैं। इन पदों के लिए हंिदूी में 60 व सामाजिक विज्ञान में करीब 80 हजार अभ्यर्थी शामिल हुए थे। प्रतियोगी रिजल्ट के लिए दो साल से इंतजार कर रहे थे। योगी सरकार ने राजकीय कॉलेजों में एलटी ग्रेड शिक्षक चयन के लिए परीक्षा लिखित कराने का प्राविधान किया। 10768 पदों के लिए चार लाख से अधिक आवेदन हुए। 37 जिलों में 29 जुलाई 2018 को 15 विषयों की परीक्षा कराई गई। परीक्षा के दौरान वाराणसी में हंिदूी व सामाजिक विज्ञान विषय का पेपर लीक हो गया था।

कुल 86,482 पदों पर भर्तियों के लिए कार्यवाही जारी

राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि वर्तमान में बेसिक शिक्षा, पुलिस और ऊर्जा विभागों में कुल 86,482 पदों पर भर्तियों के लिए कार्यवाही चल रही है। इनमें से बेसिक शिक्षा विभाग में 69,000 शिक्षकों, पुलिस में 16,629 और उप्र पावर कॉरपोरेशन में 853 पदों पर भर्तियां प्रक्रियाधीन हैं।

’>>मुख्यमंत्री ने सभी विभागों में रिक्त पदों को भरने का दिया निर्देश

’>>मुख्य सचिव व अपर मुख्य सचिवों से हफ्तेभर में मांगा खाली पदों का ब्योरा

पदों पर हुईं भर्तियां मार्च 2017 से अब तक

विभाग/भर्ती संस्था - भरे गए पद

उप्र पावर कॉरपोरेशन

मुख्यमंत्री ने दी बधाई

मुख्यमंत्री ने लिखित परीक्षा के आधार पर अर्ह घोषित अभ्यर्थियों को हार्दिक बधाई दी है। कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के युवाओं के उज्जवल भविष्य के लिए प्रयास कर रही है। शिक्षा के उत्तम वातावरण के साथ युवाओं को रोजगार के अधिक से अधिक अवसर उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

रिक्त पदों के लिए इतने ही अभ्यर्थी अर्ह घोषित

बैठक में निर्णय, पेपर लीक प्रकरण में फंसा था, दो साल से प्रतियोगी कर रहे थे इंतजार, अभियुक्त व गवाहों का रिजल्ट रुकेगा