7019 लेखपाल समेत राजस्व विभाग में 8249 पदों पर होंगी भर्तियां, छह माह में नियुक्ति पत्र - PRIMARY KA MASTER | Update Marts | Primary Teacher | Basic Shiksha News

Breaking

Wednesday, 23 September 2020

7019 लेखपाल समेत राजस्व विभाग में 8249 पदों पर होंगी भर्तियां, छह माह में नियुक्ति पत्र

उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने युवाओं को नौकरी देने की दिशा में काम शुरू कर दिया है। सबसे पहले राजस्व विभाग में खाली पड़े 8,249 पदों पर भर्ती का विज्ञापन निकाला जाएगा। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के युवाओं को इसमें 10 फीसदी आरक्षण दिया जाएगा।


छह माह में नियुक्ति पत्र:
अधीनस्थ सेवा चयन आयोग को राजस्व विभाग में खाली पदों पर भर्ती के लिए प्रस्ताव प्राप्त हो चुके हैं। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के कोटे की 10 प्रतिशत सीटें निर्धारित होने के बाद भर्ती संबंधी विज्ञापन निकाला जाएगा। सिर्फ ऑनलाइन आवेदन लिए जाएंगे, जिससे कोरोनाकाल में युवाओं को किसी तरह की असुविधा न होने पाए। आयोग के सूत्रों का कहना है कि आवदेन लेने के बाद तीन माह के अंदर परीक्षा कराई जाएगी, जिससे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की घोषणा के मुताबिक छह माह में पात्रों को नौकरी दी जा सके।

भर्तियों को लेकर तैयारी तेज
अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने भर्ती के लिए तैयारियां तेज कर दी हैं। जिन विभागों से पहले प्रस्ताव आए थे, उनका परीक्षण शुरू कर दिया गया है। आयोग पदवार भर्ती संबंधी विज्ञापन निकालने पर विचार कर रहा है, जिससे भर्ती प्रक्रिया जल्द पूरी हो सके।

इन पदों पर होगी भर्ती

- लेखपाल -----------7019

- राजस्व निरीक्षक-----------1073

- वरिष्ठ सहायक -----------53

- कनिष्ठ सहायक-----------104

ऑनलाइन देख सकेंगे विज्ञापन
अधीनस्थ सेवा चयन आयोग अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए ऑनलाइन भर्ती विज्ञापन जारी करेगा। नौकरी की चाहत रखने वाले लोग वेबसाइट देखकर अपनी योग्यता के आधार पर भर्तियों के संबंध में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। इसके साथ ही दैनिक अखबारों में भी विज्ञापन दिया जाएगा।

कैसे करना होगा आवेदन
उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की अधिकृत वेबसाइट http://upsssc.gov.in पर अभ्यर्थियों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। आवेदन के लिए तय शुल्क जमा करते हुए उसका चालान प्राप्त करना होगा। आवेदन के साथ पदवार योग्यता संबंधी प्रमाण पत्र और ई-चालान जमा करना होगा।

त्रुटि ठीक करने का मिलेगा मौका
ऑनलाइन आवेदन के दौरान किसी प्रकार की त्रुटि होने पर उसे ठीक करने का भी मौका दिया जाएगा। आयोग समय-समय पर वेबसाइट पर इसके संबंध में जानकारी देगा।