69000 शिक्षक भर्ती लेटेस्ट अपडेट लीगल टीम की कलम से - PRIMARY KA MASTER | Update Marts | Primary Teacher | Basic Shiksha News

Breaking

Monday, 28 September 2020

69000 शिक्षक भर्ती लेटेस्ट अपडेट लीगल टीम की कलम से


#शिक्षक_भर्ती_69000
#सर्वेश_प्रताप_सिंह

बीटीसी के संघर्ष से लेकर, 69000 शिक्षक भर्ती में परीक्षा से पहले कट-ऑफ लगवाने के लिए धरना देना हो, सिंगल बेच/डबल बेंच/सुप्रीम कोर्ट में पैरवी हो या फिर 67,867 चयन सूची को हर हाल में सुरक्षित करने के लिये आप सब के सहयोग से आज तक अपने संघर्षशील साथियों के साथ मिलकर जो सँयुक्त प्रयास किये गए हैं, उसे बताने या दिखाने की आवश्यकता नहीं है,उम्मीद है न कभी ऐसी आवश्यकता पड़ेगी।


◼️69000 शिक्षक भर्ती में समस्त चयनित 67,867 साथियों की नियुक्ति सुप्रीम कोर्ट से आर्डर आने के बाद एक साथ हो, इसके लिए टीम के साथियों के साथ मिलकर, हर स्तर पर प्रयासरत हूँ।

◼️19 सितम्बर, 2020 को मुख्यमंत्री के 31,661 पदों पर भर्ती करने के आदेश आने के बाद से लेकर, अब तक इस दिशा में निरंतर प्रयास जारी हैं कि जल्द से जल्द सुप्रीम कोर्ट का आदेश आये और भर्ती 67,867 पदों पर एकसाथ सम्पन्न हो।

◼️ आर्डर के लिए सबसे पहले टीम द्वारा ही #मेंशन_एप्लिकेशन लगाकर प्रयास किया गया, जिस पर बहुत सी गालियां भी मिलीं कि 2 साल से रुकी भर्ती को पुनः रोकने का प्रयास क्यों किया जा रहा है।

यहां तक कि 67,867 को सुप्रीम कोर्ट का आर्डर आने के बाद एकसाथ करवाने के लिए #धरने के लिए मैं खुलकर आगे आया, पर बाकी कोई तैयार नहीं हुआ।

◼️ जो टीमें और नेता #SCERT पर यह गाते फिर रहे थे कि 31,661 पद पर भर्ती हो जाने से 60-65% कट ऑफ को मजबूती मिलेगी, इससे उनका कोई विरोध नहीं हैं। वही आज आपके द्वारा सहयोग किया हुआ पहले का लाखों रुपया बचा होने के बावजूद खाता जारी करके #चन्दा_बाजी का काम कर रहे हैं और लोगों को डरा कर #मानसिक_अवसाद में ले जा रहे हैं।

◼️साथियों आज आप सभी चयनितों को एक चीज़ के लिए आगाह कर देना चाहता हूँ, कि आप चाहे बीएड अभ्यर्थी हों, बीटीसी अभ्यर्थी हों या फिर शिक्षामित्र हों अगर अब इस भर्ती में एक भी रुपया किसी भी नेता या व्यक्ति को देते हैं तो आप अपने पैर पर कुल्हाड़ी मारेंगे ! इसे आप मेरा निवेदन/सुझाव/व्यक्तिगत मत कुछ भी समझ सकते हैं।

◼️बीएड बाहर हो जाने के नाम पर बार-बार डराकर वसूली करने वालों और सुप्रीम कोर्ट के लिए पर्याप्त वसूली करके वकील बदलने वालों व दो की जगह केवल एक सीनियर वकील से बहस करवाने वाले लोगों की असलियत पहचानें। इन सबको बस खाता जारी करने का मौका चाहिए था,जो कि 24 सितम्बर, 2020 के शासनादेश के बाद इन्हें मिल गया।

◼️कुछ साथी यह जानना चाहते हैं कि मैं किस पक्ष में हूँ...? मेरा स्पष्ट मत है कि भर्ती के दो भागों (31,661 + 37,339) में होने से भविष्य में दिक्कतें दोनों को होंगी, चाहे वो चयनित हों या अचयनित।

इसलिए सबसे उचित यही है कि 67,867 चयन सूची के साथियों की नियुक्ति एकसाथ हो, इसी में सबका हित है,अन्यथा सरकार और कोर्ट के चक्कर में 2 साल से लगातार परेशान अभ्यर्थियों के साथ छलावा मात्र होगा।

◼️67,867 को एकसाथ करवाने के लिए जितने भी सम्भव प्रयास हैं, वो किये जा रहे हैं, चाहे वह माननीय सर्वोच्च न्यायालय से आदेश के लिए हो अथवा शासन स्तर पर अधिकारियों से भर्ती में विसंगतियां आने के संबंध में अवगत कराने से हो, हर प्रकार से कार्य जारी हैl

◼️भरोसा रखें 🙏 67,867 साथियों की वो एकता जो 1 जून, 2020 को बनी थी, वो हमें बरकरार रखनी है।

◼️समस्त टीमों के अगुवाकर जो चाहते हैं कि 67,867 पदों पर नियुक्ति एकसाथ हो उनसे मेरा निवेदन है कि अभ्यर्थियों को लूटने के बजाए, जमीनी स्तर पर प्रयास करें और प्रतिबद्धता दिखाएं कि 67,867 चयनितों को टुकड़ों में नहीं बल्कि एकसाथ नियुक्ति लेनी है।🙏

#धन्यवाद👏
#_सर्वेश_प्रताप_सिंह
#बीटीसी_लीगल_टीम