शाहजहांपुर:- 2674 शिक्षामित्रों के खाते में भेजा गया एक रुपया, 652 के खाते में आया एरर - PRIMARY KA MASTER | Update Marts | Primary Teacher | Basic Shiksha News

Breaking

Thursday, 17 September 2020

शाहजहांपुर:- 2674 शिक्षामित्रों के खाते में भेजा गया एक रुपया, 652 के खाते में आया एरर


बेसिक विद्यालयों में कार्यरत 2674 शिक्षामित्रों के खातों में विभाग ने एक रुपया भेजा है। दरअसल खातों में तकनीकी दिक्कत आने के चलते ट्रायल के रूप में एक रुपया भेजा गया है। जुलाई महीने की शेष धनराशि को ट्रांसफर करने की तैयारी है।जिले में विभाग ने शिक्षामित्रों को लिंक जारी कर अपनी सूचना भरने के निर्देश दिए थे। इसमें कई का ब्यौरा गड़बड़ भर दिया गया। इसे चेक करने के बजाए यही ब्यौरा मुख्यालय भेज दिया गया। जब मानदेय भेजने का नंबर आया तो किसी का खाता गड़बड़ निकला तो कई के पेन कार्ड नंबर भी गलत निकले। इससे जुलाई का मानदेय खातों में नहीं पहुंच पाया। इसी कड़ी में विभाग ने खातों को सही कराते हुए ट्रायल के रूप में एक रुपये को ट्रांसफर किया। 3143 शिक्षामित्रों में 2674 के खातों में एक रुपये को शाम को ट्रांसफर कर दिया।जिलाध्यक्ष रत्नाकर दीक्षित व महामंत्री रामपूत पाल ने बताया कि एएओ से हुई वार्ता के बाद ट्रायल के लिए एक रुपया भेजा गया। 24 घंटे के अंतराल में एक माह का मानदेय 9999 रुपए खातों में भेज दिया जाएगा। उसके दो दिन के अंतराल में अगस्त माह का भी मानदेय भेज दिया जाएगा।


-652 के खाते में आया एरर

=विभाग ने 652 शिक्षामित्रों के खाता नंबर में एरर आने का पत्र जारी किया। उन्होंने विभाग वार सूचना बीईओ को भेजी है। वहीं दूसरी ओर शिक्षामित्र संघ के जिलाध्यक्षरत्नाकर दीक्षित ने सभी शिक्षामित्रों से अपील की है कि जिन शिक्षामित्रों के खाते गलत हैं। उनके नाम की कापी बीईओ को भेज दी गई है। उनके खातों को फिर से सही कराकर भेजने के निर्देश दिए हैं। ब्लाक के शिक्षामित्र अपनी त्रुटि को सही करा लें।
घेराव करने की चेतावनी

-गुरुवार शाम तक मानदेय खातों में नहीं पहुंचा तो बीएसए और एएओ का घेराव किया जाएगा। शिक्षामित्र संघ के जिलाध्यक्ष रत्नाकर दीक्षित ने अधिकारियों को यह चेतावनी दी है।

-बीएसए ने मांगा प्रमाण पत्र
बीएसए राकेश कुमार ने खंड शिक्षा अधिकारियों को पत्र भेजकर बताया कि 2674 शिक्षामित्रों के खातों में एक-एक रुपया टोकन मनी की धनराशि भेजी गई। इसलिए धनराशि प्राप्ति के संबंध में प्रमाण पत्र प्राप्त कर उपलब्ध कराएं, जिससे खातों में धनराशि को ट्रांसफर कर सकें।