12460 शिक्षक भर्ती में अवशेष पदों पर नियुक्ति के लिए प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र, कही ये बात - PRIMARY KA MASTER | Update Marts | Primary Teacher | Basic Shiksha News

Breaking

Sunday, 20 September 2020

12460 शिक्षक भर्ती में अवशेष पदों पर नियुक्ति के लिए प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र, कही ये बात

12460 शिक्षक भर्ती में अवशेष पदों पर नियुक्ति के लिए प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र, कही ये बात
कांग्रेस की यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने 12460 शिक्षक भर्ती में अभ्यर्थियों की तत्काल नियुक्ति किए जाने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि अभ्यर्थी हताश और परेशान हैं। उनके रोजगार के हक का सम्मान करते हुए उन्हें तत्काल नियुक्ति दीजिए।


प्रियंका ने पत्र में लिखा कि योगी जी उत्तर प्रदेश का युवा बहुत परेशान और हताश है। कुछ दिनों पहले ही मैंने 12460 शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग पर बातचीत की। इस शिक्षक भर्ती में 24 जिले शून्य जनपद घोषित थे यानि की इन 24 जिलों में कोई जगह नहीं खाली थी मगर अन्य जिलों की वैकेंसीज के लिए इन बच्चों ने मेरिट में स्थान प्राप्त किया। काउंसलिंग में हिस्सा लिया। इनको विद्यालय आवंटित हुआ, नियुक्ति पत्र भी छपे मगर मिले नहीं। अब तीन साल बीत जाने के बाद भी इन प्रतिभावान युवाओं की नियुक्ति नहीं हो पाई है।
ये युवा मजबूरी में कोर्ट कचहरी के चक्कर काट रहे हैं। इनमें से कई ऐसे बच्चे हैं जिनके जीवन संघर्ष से भरे हुए हैं। इनकी दर्दनाक कहानी सुनकर मुझे बहुत दुख हुआ। मैं समझ नहीं पा रही हूं कि सरकार ने इनके प्रति एक आक्रामक और निर्मम स्वभाव क्यों बनाया है जबकि यही उत्तर प्रदेश का भविष्य बनाने वाली पीढ़ी है और सरकार इनके प्रति जवाबदेह है।
एक तो कोरोना, दूसरा आर्थिक संकट कर रहा परेशान
प्रियंका गांधी ने लिखा कि मुख्यमंत्री जी ये युवा बहुत परेशान हैं। कोरोना महामारी इनके ऊपर और भी कहर बरपा रही है। एक तो इन्हें नौकरी नहीं मिल रही है ऊपर से इस महामारी में उनके सामने गहरा आर्थिक संकट आ खड़ा हुआ है। कई अभ्यर्थी तो भयानक अवसाद में हैं। उनके ऊपर घर के नमक-तेल और राशन का भी बोझ है।

प्रियंका गांधी ने कहा कि मानवीय संवेदनाओं को देखते हुए युवाओं के रोजगार के हक का सम्मान करते हुए कृपया 24 शून्य जिलों के अभ्यर्थियों की तत्काल नियुक्ति देने का कष्ट करें।