वर्चुअल स्कूल के रूप में चलेंगे माध्यमिक विद्यालय, शासन ने तय की समय-सारिणी - PRIMARY KA MASTER | Update Marts | Primary Teacher | Basic Shiksha News

Breaking

Saturday, 22 August 2020

वर्चुअल स्कूल के रूप में चलेंगे माध्यमिक विद्यालय, शासन ने तय की समय-सारिणी

लखनऊ : शासन ने वर्चुअल स्कूल के लिए तय की समय-सारिणी आनलाइन शिक्षण कार्य के लिए माध्यमिक शिक्षा परिषद के अधिकारियों को सौंपी जिम्मेदारी प्रमुख संवाददाता-राज्य मुख्यालय शासन ने माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित विद्यालयों में लॉक डाउन की अवधि में वर्चुअल स्कूल एवं ई-ज्ञान गंगा के माध्यम से पठन-पाठन शुरू कराने की समय-सारणी जारी कर दी है। इस तरह माध्यमिक विद्यालयों का संचालन अब वर्चुअल स्कूल के रूप में किया जाएगा। जिलाधिकारियों को इस पूरी व्यवस्था की निगरानी करने की जिम्मेदारी दी गई है।





दूरदर्शन यूपी एवं स्वयंप्रभा चैनल-22 पर होगा प्रसारण प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला ने शुक्रवार को इस संबंध में शासनादेश जारी किया। इसमें वर्चुअल स्कूल के संचालन के लिए परिषद के अधिकारियों को अलग-अलग जिम्मेदारी दी गई है। साथ ही कहा गया है कि पूरे प्रदेश में पूर्व निर्धारित समय-सारिणी के अनुसार कक्षावार-विषयवार शैक्षणिक वीडियोज का प्रसारण एवं आनलाइन अध्ययन सुनिश्चित किया जाएगा। प्रोजेक्ट ई-ज्ञान गंगा के तहत पाठन पाठन के लिए कक्षावार-विषयवार लेक्चर्स, वीडियोज के माध्यम से पढ़ाए जाएंगे। वीडियोज का प्रसारण निर्धारित समय-सारिणी के अनुसार दूरदर्शन यूपी एवं स्वयंप्रभा चैनल-22 पर किया जाएगा।


कक्षावार प्रसारण का समय तय समय-सारिणी के अनुसार दूरदर्शन यूपी पर कक्षा 10 एवं 12 के लिए सोमवार से शुक्रवार तक प्रसारण होगा। इसमें अपराह्न एक बजे से दो बजे तक, अपराह्न 2.30 बजे से 3 बजे तक, अपराह्न 3.30 बजे से शाम 5 बजे तक तथा शाम 5.30 बजे से शाम 6.30 बजे तक होगा। इसी तरह स्वयं प्रभा चैनल-22 पर कक्षा 9 एवं 11 के लिए सोमवार से शुक्रवार तक प्रसारण होगा। इसमें पूर्वाह्न 11 बजे से अपराह्न एक बजे तक तथा अपराह्न 4.30 बजे से शाम 6.30 बजे तक प्रसारण किया जाएगा।


शासनादेश में कहा गया है कि दूरदर्शन यूपी और स्वयंप्रभा चैनल-22 पर प्रसारित होने वाले शैक्षणिक वीडियो माध्यमिक शिक्षा विभाग के यू-ट्यूब चैनल पर भी अपलोड किया जाए। प्रत्येक शनिवार को शिक्षकों द्वारा विद्यार्थियों की जिज्ञासाओं का समाधान व्हाट्सअप अथवा फोन द्वारा किया जाएगा। प्रत्येक सप्ताह में शनिवार को महत्वपूर्ण विषयों के वीडियो पुन: प्रसारित किए जाएंगे। विद्यार्थियों की जिज्ञासाओं के समाधान के लिए विद्यालय स्तर पर विषयवार शिक्षकों के मोबाइल नंबर छात्रों को उपलब्ध कराए जाएंगे। ऐसे विद्यार्थी जिनके पास टेलीविजन तथा आनलाइन शिक्षा के लिए कोई व्यवस्था नहीं है, उनके लिए दूरस्थ शिक्षा से संबंधित पाठ्य सामग्री उपलब्ध कराई जाए। माह के अंत में होगा


मूल्यांकन स्वयंप्रभा चैनल और दूरदर्शन के माध्यम से प्रत्येक माह के अंत में मूल्यांकन के लिए प्रश्न प्रसारित किए जाएंगे। इन प्रसारित प्रश्नों के उत्तर व्हाट्सअप के माध्यम से शिक्षकों को भेजे जाएंगे। ऐसे विद्यार्थी जो व्हाट्सअप के माध्यम से उत्तर नहीं भेज सकते उनके लिए विद्यालय में कक्षावार ड्रापबाक्स की व्यवस्था की जाएगी। पठन-पाठन की मानीटरिंग के लिए जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा 10-12 विद्यालयों पर एक नोडल अधिकारी नामित किया जाएगा। जिला स्तर पर मॉनीटरिंग के लिए जिला विद्यालय निरीक्षक के निर्देशन में एक कंट्रोल रूम स्थापित किया जाएगा।